RhymesLyrics
Nani Teri Morni Ko

Nani Teri Morni Ko | नानी तेरी मोरनी को

सन 1960 में प्रदर्शित फिल्म ‘मासूम’ का बालगीत ‘नानी तेरी मोरनी को’ एक बहुत ही प्रसिद्ध व पुराना बालगीत है जिसे सभी बच्चे आज के समय में भी उतने ही उत्साह से सुनना व गाना पसंद करते हैं। गीतकार शैलेंद्र द्वारा लिखे गए इस गीत को संगीतकार हेमंत कुमार ने संगीतबद्ध किया है तथा गायिका रानू मुखर्जी ने इसे गाया है।

यह बालगीत एक छोटी बच्ची का अपनी नानी के साथ वार्तालाप है जिसमें वह किसी बात पर रूठी हुई अपनी नानी को मनाने की कोशिश कर रही है। इसी कोशिश में वह अपनी नानी को बताती है कि कैसे उनकी पाली गई मोरनी को कुछ मोर अपने साथ ले गए हैं और बाकी के समान को काले रंग के चोर चुराकर ले गए हैं।

आगे वह अपनी नानी को बताती है कि कैसे वह चोर उनका सामान चुराकर रेल गाड़ी में बैठ गए लेकिन उनका डिब्बा रेलगाड़ी से कटकर सीधा जेल में पहुंच गया जहां पर एक मोटे थानेदार ने उन चोरों की खूब खबर ली। वह छोटी सी बच्ची अपनी नानी को बताती है कि जो मोर उनकी मोरनी को अपने साथ ले गए थे उनको भी जंगल के जानवरों की सरकार ने पकड़ लिया है और खूब नाच नचाया है अर्थात सजा दी है।

यह सब बताने के बाद वह बच्ची अपनी नानी को बड़े प्यार से समझ आती है कि मेरी अच्छी और प्यारी नानी अब तुम मुझसे ना रूठो और जल्दी से मुझे कुछ पैसे दे दो जिससे मैं अपनी मनपसंद की कोई चीज खरीद सकूं। इस तरह से यह गीत बच्चों को एक मजेदार कहानी सुनाने के साथ-साथ अपनी नानी को बहलाने में मनाने का एक उत्कृष्ट उदाहरण है जिसे सभी बच्चे बड़े मजे से गाना पसंद करते हैं।

‘नानी तेरी मोरनी को’ बालगीत के बोल

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए
बाकी जो बचा था काले चोर ले गए – २

 

खाके पीके मोटे होके, चोर बैठे रेल में
चोरों वाला डिब्बा कट कर, पहुंचा सीधे जेल में – २

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए…


उन चोरों की खूब खबर ली, मोटे थानेदार ने
मोरों को भी खूब नचाया, जंगल की सरकार ने – २

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए…


अच्छी नानी प्यारी नानी, रूसा रुसी छोड़ दो
जल्दी से एक पैसा दे दो, तुम कंजूसी छोड़ दो – २

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए…

‘Nani Teri Morni Ko’ Lyrics in English

Nani teri morni ko mor le gaye
baki jo baacha tha kaale chor le gaye -2


khake pike mote hoke, chor baithe rail mei
choro wala dibba kat kar, pahuncha sidhe jail mei -2
Nani teri Morni ko…


un choron ki khub khabar li, mote thanedar ne
Moro ko bhi khub nachaya, jungal ki sarkar ne -2
Nani teri Morni ko…


achhi nani pyari nani, rusa rusi chod do
Jaldi se ek paisa de do, tum kanjusi chod do -2
Nani teri Morni ko…

‘Nani Teri Morni Ko’ English Translation

Grandma, peacocks took your peahen,

Everything else was taken by crooks.

 

After eating and drinking, and becoming fat,

The crooks were sat in a train,

And cutting the box as crooks do,

Ended up straight in jail.

Grandma, peacocks took your peahen…

 

Those crooks got an earful, from the fat warden

The peacocks were also forced to dance about

By the government of the jungle

Grandma, peacocks took your peahen…

 

Good grandma, lovely grandma, stop this game of hide-and-seek

 Quickly, give me a paisa, stop being miserly

Grandma, peacocks took your peahen…

‘नानी तेरी मोरनी को’ पर आधारित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

उत्तर : नानी की मोरनी को मोर ले गए थे।

उत्तर : खाके पीके मोटे होके चोर रेल में जा बैठे।

उत्तर : चोरों वाला डिब्बा कट के सीधा जेल में पंहुचा।

उत्तर : जेल में चोरों की खबर मोटे थानेदार ने ली।

Frequently asked questions (FAQ's) based on 'Nani Teri Morni Ko'

Answer : The maternal grandmother’s peahen was taken by peacocks.

Answer : The thieves sit in the train after eating, drinking, and becoming fat.

Answer : The thieves box directly reached to the prison.

Answer : Fatty police station officer took the charge of thieves in jail.

Related links

Other popular rhymes

Other related keywords and search's