RhymesLyrics
Gandhi

Gandhi Rashtra Pita | गाँधी राष्ट्र पिता

गाँधी जी एक ऐसा नाम जिसे शायद ही कोई बच्चा होगा जो न जनता हो, भारत के इतिहास से एक ऐसा नाम जिसके बारे में लोग बीते हुए कल से लेकर वर्तमान तक ना सिर्फ बातें करते थे बल्कि उनके आदर्शों का अनुसरण भी करते हैं।

इस बालगीत में गाँधी जी के बारे में बच्चों को बताया गया है की वे हमेशा सच्चाई के रास्ते पर चलते थे और उन्होंने कभी भी हिंसा का साथ नहीं दिया, अपने भारत देश की आज़ादी की लड़ाई को वे अहिंसा के मार्ग पर चलकर बहुत आगे तक ले गए।

गाँधी जी ने अंग्रेजो के खिलाफ अपने अहिंसा के आन्दोलन को पूरे देश में फैला दिया, सभी भारतवासियों को एकजुट करके अंग्रेजो के खिलाफ एक ऐसी शक्ति के रूप में खड़े हो गए जिसके आगे आखिरकार अंग्रेजो को झुकना पड़ा और फिर वह दिन भी आ गया जब अंग्रेजो को भारतवासियों के आगे झुकना पड़ा और हमारा देश अंग्रेजो के चंगुल से आज़ाद हो गया। 

 

‘गाँधी,राष्ट्र पिता बालगीत के बोल

सच्चाई का लेकर शस्त्र,

और अहिंसा का ले अस्त्र ।

तुमने अपना राष्ट्र बचाया,

गोरो को कर दूर भगाया  ।

दुश्मन से भी प्रेम किया,

मानव पर उपकार किया  ।

गाँधी ! करते तुम्हे नमन,

तुम्हें चढाते प्रेम-सुमन ।

  

Gandhi Rashtra Pita’ Lyrics in English

Sachhai ka lekar shastra
Aur Ahinsa ka lekar astra
Tumne apna rashtra bachaya
Goro ko kar door bhagaya
Dushmen se bhi prem kiya
Manav par upakar kiya
Gandhi karthe tumhe naman
Tuje chadathe prem suman

 

Gandhi, Father of the Nation’ English Translation

Arms of truth,

And the lest weapon of non-violence.

You saved your country,

You driven away British.

Loved the enemy too,

 You Benefaction the Human

Gandhi! Greetings to you,

We offer you flower of reverence.

 

'गाँधी,राष्ट्र पिता' पर आधारित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

उत्तर : इस बालगीत में लेखक राष्ट्र पिता गाँधी जी के बारे में बात कर रहा है।

उत्तर : गाँधी जी ने गोरो यानी अंग्रजों को दूर भगाया था।

उत्तर : गाँधी जी ने अपनी लड़ाई में सच्चाई शस्त्र का उपयोग किया।

उत्तर : गाँधी जी ने दुश्मन से भी प्यार करके मानवता पर उपकार किया।

उत्तर : गाँधी जी ने अपनी सच्चाई की लड़ाई में आहिंसा के अस्त्र का उपयोग किया।

Frequently asked questions (FAQ's) based on 'Gandhi Rashtra Pita'

Answer : In this poem the writer is talking about the father of the nation Gandhi ji.

Answer : Gandhi ji had driven British away.

Answer : Gandhi ji favored humanity and process mankind by loving the enemy also.

Answer : Gandhi ji used the weapon of truth in his fight.

Related links

Other popular rhymes

Other related keywords and search's