RhymesLyrics

Gesture Play Songs in Hindi | इशारों से समझाना

Railgadi
Railgadi | रेलगाड़ी

Railgadi : ‘रेलगाड़ी’ एक प्रसिद्ध हिंदी बालगीत है जो छोटे बच्चों को रेलगाड़ी (ट्रेन) के बारे में जानकारी देता है। हम सब में शायद ही ऐसा कोई होगा जिसने रेल यात्रा न की हो, छुक-छुक करती रेलगाड़ी बच्चे, बड़े, और बूढ़े सभी को खूब लुभाती है। ‘रेलगाड़ी’ बालगीत के माध्यम से बच्चे एक-दूसरे के साथ जुड़कर शोर मचाते हुए खेल-खेल में ही रेलगाड़ी की सरचना एवं उसके चलने के तरीके को सीख लेते है। उन्हें पता चलता है कि कैसे इंजन आगे से सब डिब्बों को खींचता है और सब लोगों को बिठाकर रेलगाड़ी बड़ी शान से आवाज करती पटरी पर आगे बढ़ती है।

Mummy Ki Roti Gol Gol
Mummy Ki Roti Gol Gol | मम्मी की रोटी गोल गोल

Mummy Ki Roti Gol Gol : ‘मम्मी की रोटी गोल गोल’ बालगीत में पर्युक्त सभी वस्तुओं के संज्ञान से छोटे बच्चों को गोल आकर्तियों का आभास आसानी से हो जाता है।इस गीत का प्रयोग ज्यादातर स्कूलों में छोटे बच्चों को एक-साथ मिलकर गाने और गोल आकर्तियों के बारे में सिखाने के लिए किया जाता है जो इस गीत के सरल बोलो से बड़ी ही आसानी से हो जाता है।

Machhali Rani
Machhali Rani | मछली रानी

Machhali Rani : ‘मछली रानी’ एक बहुत प्रसिद्ध हिंदी बालगीत है जिसे छोटे बच्चे गाना बहुत पसंद करते हैं। इसके बोल इतने सरल हैं कि बच्चे आसानी से इस गीत को याद कर सकते हैं और अपने मित्रों को भी सिखा सकते हैं। वे अपने हाथों को एक दूसरे पर रखकर उनसे मछली जैसी आकर्ति बनाकर आपस में खेल सकते हैं, साथ ही साथ वे गीत मैं प्रस्तुत की गईं बाकी संवेंद्नाओ को भी अपने इशारों द्वारा दर्शा सकते हैं।

Hum Honge Kamyab
Hum Honge Kamyab | हम होंगे कामयाब

Hum Honge Kamyab : गीत ‘हम होंगे कामयाब’ मूलतः एक सकारात्मक प्रेरणादायक गीत है जिसे हम अक्सर अपने आसपास सुनते रहते हैं, खासतौर से बच्चों से जुड़े हुए आयोजनों व समारोह में इस गीत का गायन पूरे माहौल को एक सकारात्मक सोच व एकजुटता से भर देता है। यह गीत एक सुप्रसिद्ध अमेरिकन गीत ‘We Shall Overcome’ का गिरिजा कुमार माथुर द्वारा किया गया हिंदी अनुवाद है, इसका मूल गीत 20 वीं सदी का एक बहुत ही प्रसिद्ध व पुराना प्रतिरोधात्मक गीत है जिसे चार्ल्स अल्बर्ट टिंडले द्वारा सन 1900 में पहली बार गाया व प्रकाशित किया गया था।

Re Mama Re Mama Re
Re Mama Re Mama Re | रे मामा रे मामा रे

Re Mama Re Mama Re : हिंदी फिल्म ‘अंदाज़’ का बालगीत ‘रे मामा रे मामा रे’ एक बहुत ही सुप्रसिद्ध व रोचक गीत है जिसे सभी बच्चे सुनना व गाना पसंद करते हैं, काफी पुराना होने के बावजूद भी यह गीत आज के जमाने में भी उतना ही प्रासंगिक है जिसकी वजह से इसकी लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है। अपने जमाने के सुप्रसिद्ध गायक मोहम्मद रफी द्वारा गाया गया यह गीत अभिनेता शम्मी कपूर के द्वारा फिल्माया गया है जिससे इसकी जीवंतता व लोकप्रियता अनुपम बन पड़ी है।

Aaloo Kachaloo
Aaloo Kachaloo | आलू कचालू

Aaloo Kachaloo : बालगीत ‘आलू कचालू’ एक बहुत प्रसिद्ध हिंदी गीत है जिसे छोटे बच्चे काफ़ी पसंद करते हैं। इस गीत में शामिल दो किरदार ‘आलू कचालू’ और उनके साथ घटने वाली मजेदार घटनाएं छोटे बच्चों को बहुत आकर्षित करती हैं। बच्चे आसानी से इस गीत को सीख सकते हैं और उन घटनाओं के हाव–भाव बनाकर आनंद ले सकते हैं।

Hathi Raja
Hathi Raja | हाथी राजा

Hathi Raja : बालगीत ‘हाथी राजा’ बच्चों को इस संसार के सबसे विशाल काया वाले जानवर के बारे में बताता है कि धरती का यह सबसे विशाल जानवर हाथी सभी बच्चों व बड़ों का पसंदीदा जानवर होता है जिसका अपनी विशालकाय काया के साथ अपनी सूंड को हिला-हिलाकर चलना सबका मन मोह लेता है।छोटे बच्चों को रिझाने के लिए इस बालगीत की अंतिम कुछ पंक्तियों में हास्य को भी प्रस्तुत किया गया है जिसमें बच्चें हाथी राजा को अपने घर पर आकर उनके पसंदीदा भोजन मीठे – मीठे गन्ने खाने को आमंत्रित कर रहे हैं।

Ek Bandar Ne Kholi Dukan
Ek Bandar Ne Kholi Dukan | एक बंदर ने खोली दुकान

Ek Bandar Ne Kholi Dukan : एक बंदर पर केंद्रित मजेदार व रोचक किस्सों की जुगलबंदी को प्रस्तुत करता हुआ बालगीत ‘एक बंदर ने खोली दुकान’ छोटे बच्चों को जहां एक और जंगल के जानवरों व उनके खान-पान से अवगत कराता है वहीं दूसरी ओर दुकान पर होने वाले लेनदेन से भी परिचित कराता है। बालगीत की सुंदर पंक्तियों में अलग अलग जानवरों से प्रेरित किस्से बच्चों में उनके बारे में जानने की उत्सुकता को जागृत करते हैं तथा उनके व्यवहार व खान-पान की आदतों से भी अवगत कराते हैं, बालगीत के केंद्र में बंदर को प्रस्तुत करने से बच्चे उसके प्रति अपने लगाव के कारण भी पंक्तियों से जुड़े रहते हैं तथा कुछ रोचक होने की आस में बालगीत को ध्यान से सुनते हैं।

Chunnu Munnu
Chunnu Munnu | चुन्नू मुन्नू

Chunnu Munnu : बालगीत ‘चुन्नू-मुन्नू’ में दो भाइयों के बीच के अनोखे रिश्ते को दिखाने की कोशिश की गई है कि किस तरह से दोनों पूरा दिन अपने सामानों को आपस में बाँट कर एक-दुसरे के साथ मिल जुल कर खेलते हैं लेकिन फिर भी कभी-कभी किसी न किसी चीज़ पर दोनों में आपस में बहस व तकरार हो ही जाती है। जब दोनों के बीच का मामला आसानी से नहीं सुलझता और दोनों भाई शोर मचा कर पूरा घर सिर पर उठा लेते है तो फिर उनकी मम्मी आकर उन्हें समझाकर या डांट-डपट कर परेशानी को हल कराती हैं।

Chal Mere Ghode Chal Chal Chal
Chal Mere Ghode Chal Chal Chal | चल मेरे घोड़े चल चल चल

Chal Mere Ghode Chal Chal Chal : नन्हे-मुन्ने बच्चों का पसंदीदा जानवर घोड़ा जितना देखने में आकर्षक लगता है उससे कहीं ज्यादा उसकी सवारी करना उन्हें लुभाता है, खेल-खेल में ना जाने कितनी ही बार छोटे बच्चे अपने बड़ों को घोड़ा बनाकर उनके पीठ की सवारी करते हैं। बालगीत ‘चल मेरे घोड़े चल-चल-चल’ बच्चों को उनके पसंदीदा जानवर घोड़े से ना केवल अवगत कराता है बल्कि उसकी चाल ढाल व सवारी के बारे में भी बताता है।

Posham Pa Bhai Posham Pa
Posham Pa Bhai Posham Pa | पोषम पा भाई पोषम पा

Posham Pa Bhai Posham Pa : बालगीत ‘पोषम पा भाई पोषम पा’ शायद सभी छोटे बच्चों ने बचपन में खेल-खेल में सुना व गाया होगा तथा इसकी सरल व मजेदार पंक्तियों का लुत्फ़ भी ज़रूर उठाया होगा। जब भी कभी खेलने के लिए छोटे-छोटे नन्हे मुन्ने बच्चे एक जगह पर इकट्ठे होते हैं तब वह इस तरह के छोटे-छोटे खेलों का आनंद उठाते हैं जिनकी पंक्तियां उन्हें आसानी से याद हो जाती हैं तथा मजेदार भी होती हैं।

Bandar Mama Pahan Pajama
Bandar Mama Pahan Pajama | बन्दर मामा पहन पजामा

Bandar Mama Pahan Pajama : बालगीत ‘बंदर मामा पहन पजामा’ बच्चों का बहुत ही लोकप्रिय गीत है जिसे बच्चे बहुत ही खुश होकर सुनना व गाना पसंद करते हैं। इस गीत में एक बंदर के नटखट एवं चंचल स्वभाव को दर्शाने के लिए एक काल्पनिक कहानी का सहारा लेते हुए बताया गया है कि कैसे वह बन्दर पजामा पहन कर बड़े ही शौक से सज-धज कर तैयार होकर दावत खाने जाता है।

Do Chuhe The
Do Chuhe The | दो चूहे थे

Do Chuhe The : बालगीत ‘दो चूहे थे’ छोटे बच्चों के बीच गाया जाने वाला एक प्रसिद्ध गीत है जिसे नन्हे मुन्ने बच्चे सुनना व गाना दोनों पसंद करते हैं। सभी बच्चों को चूहे और बिल्ली में होने वाली आपसी नोकझोंक व भागदौड़ काफी पसंद होती है तथा यह उनके बाल मन को बहुत लुभाती है, चूहे व बिल्ली के बीच होने वाली इसी जुगलबंदी को दर्शाता यह बाल गीत स्कूलों के साथ साथ घरों में भी बच्चों व अध्यापिकाओ के द्वारा काफी प्रयुक्त किया जाता है।

Hathi Aaya
Hathi Aaya | हाथी आया

Hathi Aaya : बालगीत 'हाथी आया' बच्चों के हाथी के प्रति उत्साह को प्रस्तुत करता है कि किस प्रकार हाथी को देखकर बच्चे उत्साहित होते हैं, बच्चों को हाथी का अपनी सूंड को हिलाना और उठाना बहुत ही पसंद होता है जिसे देखकर वह बहुत ही खुश होते हैं ।अगली पंक्तियों में हाथी की धीमी व मनमोहक चाल का उल्लेख किया गया है जो बच्चों व बड़ो को बहुत ही मनमोहक लगती है, हाथी के बड़े बड़े कान जो सजे हुए और भी सुन्दर लगते है जब हाथी उन्हें हिलाता हुआ अपनी मदमस्त चाल में झूमता हुआ चलता है तो सभी को अपनी ओर आकर्षित कर लेता है ।

Dhobi Aaya
Dhobi Aaya | धोबी आया

Dhobi Aaya : ‘धोबी आया’ एक बहुत अच्छा बालगीत है जिसकी मदद से छोटे बच्चे बड़े मज़ेदार तरीके से गिनती सीख सकते हैं। इस गीत में एक धोबी के बारे में बात की गयी है कि कैसे वो बार बार अपने साथ अलग अलग मात्रा में कपड़े लेकर आता है, जिसके माध्यम से बच्चे बड़ी आसानी से गिनतियों को क्रम में दोहराते हैं।

Baadal Raja
Baadal Raja | बादल राजा

Baadal Raja : बालगीत ‘बादल राजा’ बच्चों को बादलों के बारे में बताने और आगे जानने के लिए उत्सुक करने का एक सार्थक प्रयास है।गर्मी के मौसम में जब हर तरफ सब झुलस रहे होते है तब आसमान में वर्षा के बादलों के दिखने से हर कोई राहत की सांस लेता है। बालगीत ‘बादल राजा’ तेज गर्मी की उसी विभीषिका से सबको बचाने के लिए बादलों से एक पुकार को प्रदर्शित करता है।

Akkad Bakkad Bambe Bo
Akkad Bakkad Bambe Bo | अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो

Akkad Bakkad Bambe Bo : बालगीत ‘अक्कड़, बक्कड़, बम्बे बो’ छोटे बच्चों द्वारा अपने खेलों में इस्तेमाल किए जाने वाला एक बहुत ही सरल गीत है जिसका प्रयोग ज्यादातर बच्चे किसी भी खेल में सहभागियों के साथ अपनी बारी के क्रम को निर्धारित करने के लिए करते हैं, जब भी छोटे बच्चों को कई वस्तुओं में से अपने लिए किसी एक का चुनाव करना होता है तब भी वे खुशी-खुशी ‘अक्कड़, बक्कड़, बम्बे बो’ गाकर अपनी मुश्किल हल कर लेते हैं।

Meri Gudiya
Meri Gudiya | मेरी गुड़िया

Meri Gudiya : बालगीत ‘मेरी गुड़िया’ में एक छोटी बच्ची का अपनी गुड़िया के प्रति प्रेम दर्शाया गया है, इस गीत में बताया गया है कि वह छोटी बच्ची अपना पूरा दिन उस गुड़िया के साथ खेलते हुए किस तरह हँसी ख़ुशी बिताती है।इस गीत में बच्ची के लगाव को दिखाते हुए उस बच्ची के कोमल मन की कुछ बातो को बड़े ही प्रेम से प्रस्तुत किया गया है की किस तरह वह बच्ची अपनी गुड़िया को कपड़े पहनाती है, वह उस गुड़िया को अपने साथ ही सुलाती है। वह छोटी सी गुड़िया बिलकुल उसकी सहेली की तरह ही उसके साथ रहती है, जो कुछ उस बच्ची के मन की बाते होती है उन्हें वह बहुत ही प्यार से सुनती है।

Saat Samundar Paar Se | सात समुंदर पार से

Saat Samundar Paar Se : बालगीत ‘सात समुंदर पार से’ में एक बच्ची व उसके प्यारे पापा के बीच के रिश्ते को दर्शाया गया हैं जिसमें यह छोटी बच्ची अपने पापा से बाज़ार से अपने लिए एक गुड़िया लाने की मांग कर रही है। वह कह रही है की पापा आप गुड़ियो के बाज़ार से मेरे लिए एक प्यारी सी गुडिया ज़रूर लाना लेकिन यह कहते - कहते वह अपने पापा से यह भी कहती है की पापा आप जल्दी वापस आना अगर गुड़िया लाने में ज्यादा देर लगे तो कोई बात नहीं आप गुड़िया कभी और ले आना पर पापा आप घर जल्दी आना फिर हम खूब खेलेंगे।

Nani Teri Morni Ko
Nani Teri Morni Ko | नानी तेरी मोरनी को

Nani Teri Morni Ko : सन 1960 में प्रदर्शित फिल्म ‘मासूम’ का बालगीत ‘नानी तेरी मोरनी को’ एक बहुत ही प्रसिद्ध व पुराना बालगीत है जिसे सभी बच्चे आज के समय में भी उतने ही उत्साह से सुनना व गाना पसंद करते हैं। गीतकार शैलेंद्र द्वारा लिखे गए इस गीत को संगीतकार हेमंत कुमार ने संगीतबद्ध किया है तथा गायिका रानू मुखर्जी ने इसे गाया है। यह बालगीत एक छोटी बच्ची का अपनी नानी के साथ वार्तालाप है जिसमें वह किसी बात पर रूठी हुई अपनी नानी को मनाने की कोशिश कर रही है।

Chhoti Si Munni
Chhoti Si Munni | छोटी सी मुन्नी

Chhoti Si Munni : बालगीत ‘छोटी सी मुन्नी’ में एक छोटी बच्ची से परिचय कराया गाया हैं, इस गीत में बच्ची के नटखट स्वभाव को दिखाया गया है कि किस तरह उसको गुलाबी रंग बहुत ही पसंद है और वह गुलाबी सूट में बहुत ही प्यारी लगती है।गीत में उसके छोटे-छोटे चमचमाते हुए जूतों का भी जिक्र किया गया है जो देखने में बहुत ही प्यारे लगते है, इसमें यह भी बताया गया है की वह छोटी सी बच्ची चुन्नी में बहुत ही प्यारी दिखती है। नर्सरी कक्षा में पढ़ने वाली यह छोटी सी बच्ची जब सबको टाटा करती है तो बहुत ही प्यारी लगती है और सबका मन मोह लेती है।

'इशारों से समझाने वाले बालगीत' पर आधारित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

उत्तर : इशारों से समझाने वाले बालगीतों में सवेद्नाओ को इशारो से समझाने का प्रयास किया जाता हैं,  इन बालगीतों में ज्यादातर हाव-भाव का इस्तेमाल किया जाता हैं जिनको देख कर छोटे बच्चे काफी उत्साहित महसूस करते हैं और उन सभी हाव-भावो को दोहराने की कोशिश करते है। उनको दोहराते हुए बच्चें बड़े ही प्यारे लगते हैं।

उत्तर : इशारे से समझाने वाले बालगीतों में बच्चों को हाव-भाव के साथ हाथो व चेहरे की अभिव्यक्ति से बच्चों को शिक्षा से सम्बंधित चीजों को समझाने का प्रयास किया जाता हैं क्योंकि बच्चे स्वभाव से चंचल होते हैं इसलिए बच्चों को यह गीत बहुत पसंद आते हैं। इनके सहारे सिखाई जाने वाली चीजों को बच्चे बहुत ही जल्दी व आसानी से समझ लेते हैं इसलिए बच्चों को ये गीत पसंद होते हैं।

उत्तर : इशारो से समझाने वाले बालगीत बच्चों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं, इन बालगीतों में इस्तेमाल होने वाले शब्दों को बच्चे बड़ी ही आसानी से जान लेते हैं जिससे बच्चो के शब्दकोष में बढ़ोतरी होती हैं। ये सभी बालगीत अभिव्यक्ति के साथ सिखाये जाते है इसलिए बच्चो में फुर्ती आती हैं और बच्चे शारीरिक अभिव्यक्तियों को समझना शुरू कर देते हैं जो उनके ज्ञान को बढाता हैं, इसलिए ये बालगीत बच्चों के लिए बहुत ही आवशयक हैं।

उत्तर : अक्सर छोटे बच्चों की कक्षा में इशारो से समझाने वाले बालगीतों का इस्तेमाल किया जाता हैं जिससे आकर्षित होकर बच्चे बड़े ही उत्साह से बालगीतों को सुनते हैं। इन बालगीतों में संवेदनाओ को इशारे से समझाने का प्रयास किया जाता हैं क्योकि बच्चे बहुत ही संवेदनशील होते हैं इसलिए उनको इन गीतों को सुनना बहुत अच्छा लगता हैं जिसके कारण बच्चो की कक्षा में रूचि उत्पन्न हो जाती हैं।

Related links

Other popular rhymes

Other related keywords and search's