RhymesLyrics

Patriotic Songs in Hindi | देशभक्ति गीत

The National Anthem of India
The National Anthem of India (राष्ट्रगान)

The National Anthem of India : राष्ट्रगान “जन-गण-मन” मूल रूप से बँगला साहित्य के शिरोमणि कवि गुरुदेव रवींद्र नाथ ठाकुर (रवीन्द्रनाथ टगोर) द्वारा रचित पांच छंदों की कविता “Bharat Bhagyo Bidhata”, या “Dispenser of India’s destiny”, के पहले छंद से लिया गया है। उनकी यह कविता प्रकृति के अनुपम सौंदर्य और कोमलतम मानवीय भावनाओं का उत्कृष्ट चित्रण है, जिसके हिंदी संस्करण को भारतीय संविधान सभा द्वारा 24 जनवरी, 1950 को भारत के राष्ट्रीय गान (राष्ट्रगान) के रूप में अपनाया गया था।

The National Song of India
The National Song of India (राष्ट्रगीत)

The National Song of India : राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम्’ की रचना बंगाल के महान साहित्यकार श्री बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय द्वारा सन् 1876 में की गई थी, लेकिन इसका सर्वप्रथम समावेश उन्होंने अपने सुप्रसिद्ध उपन्यास 'आनंदमठ' में सन् 1880 में किया था। 'आनंदमठ' उपन्यास के माध्यम से प्रचलित हुए इस गीत का स्थान अपने देश को मातृभूमि मानने की भावना को प्रज्वलित करने वाले गीतों में सबसे पहला है।

Aao Bachcho Tumhe Dikhaye
Aao Bachcho Tumhe Dikhaye | आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं

Aao Bachcho Tumhe Dikhaye : देश की आज़ादी के 7 साल बाद सन 1954 में प्रस्तुत डायरेक्टर सत्यन बोस की फ़िल्म 'जागृति' का गीत 'आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिंदुस्तान की' बच्चों को अपने राष्ट्र की अनुपम बलिदान गाथा से अवगत कराता है। इस गीत में बड़े ही उत्कृष्ट तरीके से देश के हर कोने से जुड़ी देशभक्ति की घटनाओ और उनसे जुड़े देशभक्तों के बलिदानों को बच्चो के प्रति पेश किया गया है।

Jahan Daal Daal Par
Jahan Daal Daal Par | जहाँ डाल डाल पर

Jahan Daal Daal Par : भारत देश के महान गौरव, समृद्धि व स्वाभिमान के बारे में बतलाता फिल्म ‘सिकंदर-ए-आजम’ (1965) का गीत ‘जहां डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा’ निश्चित ही एक ऐसा गीत है जिसे सुनकर हृदय अपने देश के गौरवशाली इतिहास तथा महान संस्कृति के बारे में जान कर गर्व से भर उठता है। गीतकार राजेंद्र कृष्ण द्वारा लिखे गए इस गीत का संगीत संगीतकार हंसराज बहल ने दिया है तथा सुप्रसिद्ध गायक मोहम्मद रफी ने इसे अपनी आवाज से सजाया है। भारत देश की गौरवशाली शान को बखान करने वाले कुछ गिने-चुने सर्वोत्तम गीतों में यह गीत अपना एक अहम स्थान रखता है।

Sare Jahan Se Achha
Sare Jahan Se Achha | सारे जहां से अच्छा

Sare Jahan Se Achha : उर्दू भाषा के कवि मोहम्मद इकबाल जिन्हें पाकिस्तान के राष्ट्रीय कवि का दर्जा भी प्राप्त है, द्वारा लिखित गीत ‘सारे जहां से अच्छा’ जिसे ‘तराना ए हिंदी’ के नाम से भी जाना जाता है उर्दू शायरी की गजल शैली में लिखा गया एक सुप्रसिद्ध देश भक्ति गीत है। भारत के राष्ट्रगान जन गण मन व राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम के बाद आने वाला यह देश भक्ति गीत आजादी के पहले की एक अखंड भारत की मजबूत अवधारणा को जागृत करता है जिसे देशभक्ति के सभी आयोजनों व समारोहों में बड़े ही जोश के साथ सम्मिलित किया जाता है।

Aye Mere Watan Ke Logo
Aye Mere Watan Ke Logo | ऐ मेरे वतन के लोगों

Aye Mere Watan Ke Logo : देशभक्ति गीत ‘ए मेरे वतन के लोगों’ को भारत के सबसे लोकप्रिय देशभक्ति गीतों में सम्मिलित किया जाता है जिसे सुनकर मानव ह्रदय अपने देश के वीर जवानों के प्रति कृतज्ञता व सम्मान की भावना से भर उठता है। सन 1962 में हुए भारत चीन युद्ध के वीर शहीदों की याद में कवि प्रदीप द्वारा लिखे गए इस गीत को संगीतकार सी रामचंद्र द्वारा संगीतबद्ध किया गया है, सुप्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर द्वारा गाया गया यह गीत निश्चित ही एक अनुपम व अतुलनीय देश भक्ति रचना है।

Bharat Humko Jaan Se Pyara Hai
Bharat Humko Jaan Se Pyara Hai | भारत हमको जान से प्यारा है

Bharat Humko Jaan Se Pyara Hai : फिल्म रोजा का गीत ‘भारत हमको जान से प्यारा है’ सभी धर्म, राज्यों व विभिन्न भाषाओं के जनमानस को बोध कराता है कि हम सभी अपनी तमाम विषमताओं के बावजूद भी एक हैं और हमारा यह देश पूरे विश्व में सबसे न्यारा व प्यारा है। बहुत ही सरल शब्दों के साथ साथ शांत व मधुर संगीत से सजा यह गीत जहां एक और हमें देशभक्ति की भावना से भर देता है वहीं दूसरी ओर दिल को भी बहुत सुकून व शांति प्रदान करता है जिस वजह से यह देश भक्ति के गिने-चुने मधुर गीतों में से एक है।

De Di Humme Azadi
De Di Hame Azadi | दे दी हमें आज़ादी

De Di Hame Azadi : महात्मा गांधी जी एक युग पुरुष थे जिनके प्रति पूरा विश्व आज भी आदर सम्मान की भावना रखता है। गांधीजी ने अंग्रेजों से देशवासियो के संघर्ष को प्रकट करने के लिए सत्याग्रह को अपना प्रमुख अस्त्र बनाया, वे अपनी सादगी भरी जिंदगी और उच्च विचारो के कारण अनेक लोगों के प्रेरणास्त्रोत बने। डायरेक्टर सत्यन बोस की फ़िल्म 'जागृति' का गीत ‘दे दी हमें आज़ादी' बच्चों को अपने राष्ट्रपिता मोहनदास करमचंद गांधी की भारत को आजाद करने के लिए निभाई गयी महत्वपूर्ण भूमिका से अवगत कराता है।

Aye Mere Pyare Watan
Aye Mere Pyare Watan Song | ऐ मेरे प्यारे वतन

De Di Hame Azadi : ‘ए मेरे प्यारे वतन’ गीत देशभक्ति के उन गिने-चुने गीतों में से एक है जिन्हें सुनकर मन राष्ट्र के प्रति देशभक्ति की भावना से सराबोर हो उठता है। यह गीत प्रथम बार फिल्म काबुलीवाला में सन 1961 में प्रस्तुत किया गया था जोकि गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा सन 1892 में लिखित एक बंगाली लघु कहानी ‘काबुलीवाला’ पर आधारित थी। उत्कृष्ट कलाकार बलराज साहनी पर फिल्माया गया यह गीत किसी के भी मन में बसी देशभक्ति की भावना को उस की चरम सीमा तक ले जाने में पूरी तरह सक्षम है।

'देशभक्ति गीतों' पर आधारित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

उत्तर : देशभक्ति गीत भारत की आज़ादी की कहानियों से भरे हुए हैं, इन गीतों को गीतकारों ने अपनी कलम से इस प्रकार लिखा है की इनको सुनते ही बच्चों में देशभक्ति की भावना प्रबल होने लगती हैं इन गीतों के माध्यम से बच्चों को बड़ी ही आसानी से हमारे शहीदों की अनेको कहानियाँ पंक्तियों में लयबद्ध कर इस प्रकार सुनाई जाती है की बच्चें उन्हें आसानी से समझ सके और जान सके की हमारा देश कितने महान क्रांतिकारियों, स्वतंत्रता सेनानियों व देशभक्तों से भरा हुआ था।

उत्तर : देशभक्ति गीत उत्क्रष्ट गीतकारों की कलम से लिखे गए वे गीत हैं जिनमे उन्होंने राष्ट्र की स्वतंत्रता की लड़ाई का वर्णन करते हुए बताया हैं कि किस प्रकार लोगो ने मिल कर अपने प्राणों की परवाह न करते हुए देश को आजाद कराया था। इन गीतों में देश के महान क्रांतिकारियों की विजय गाथाओं का वर्णन बहुत ही आदरपूर्ण किया गया हैं जिनको सुनने से बच्चों के मन में महान क्रांतिकारियों के प्रति आदर सम्मान की भावना फलीभूत होती है।

उत्तर : जब देशभक्ति गीतों में बच्चें सुनते व पढ़ते हैं कि किस प्रकार हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने देश के गौरव को बचाने के लिए अपनी जान की परवाह न करते हुए देश को आजाद करवाने के लिए अपने प्राणों की बलि चढ़ा दी थी तो उनको देश के प्रति अपने कर्तव्य का आभास होता हैं और वो भी अपने देश के लिए कुछ करने की भावना से जाग्रत हो उठते हैं।

उत्तर : कोई भी देश उसके रहने वाले देशवासियों से महान बनता हैं, इसी प्रकार हमारा भारत देश भी अपने देश के देशवासियों के महान विचारो, देशवासियों की देश के प्रति भावना व देशवासियों के द्वारा देश को महान बनाने के लिए किए बलिदानों की वजह से ही महान कहलाता है। इन्हीं सब कारकों को देशभक्ति गीतों में दर्शाया जाता हैं जो बच्चों को भारत की महानता से अवगत कराते हैं।

Related links

Other popular rhymes

Other related keywords and search's